होम‎ > ‎

साहित्य संस्कृति


नीतिश क्य़ो बोल रहें है मोदि के खिलाफ!!

2 नव॰ 2013, 12:41 am द्वारा news reporter प्रेषित   [ 2 नव॰ 2013, 12:44 am अपडेट किया गया ]

अपने राज्य बिहार माओबादीओ का गड़ बन गिया है। लोगों ने जान गवा्य़े। मूख्य मन्त्री नीतिश बिहारकी जनता से अपना बेकारी छुपाने के लिये और जनताकी नजर दुसरे तरफ आकर्शित करने के लियॆ ही प्रदेश की राजनीति से दुर राष्ट्रिय़ राजनीति मे मोदी कि खिलाफ और कांग्रेस की तरफदारी कर रहें है।

एक निकम्मा मूख्यमन्त्री से बिहार की जनता और क्या आशा कर सक्ते है। इउपिए जो देश को चारो तरफ से लूट रहा है यह नीतिश जी कहां देख पा रहें है। भारत की तमाम चोर राजनीतिको से नीतिश जी कैसे और किउं दुर रहेगें, आखिर जनता को तो लुटना ही है। 

अभी तक हमने देश का ये रूप देखा है : लेखक : संजय कुमार ठाकुर

12 अक्तू॰ 2012, 8:00 am द्वारा news reporter प्रेषित

लूट किया देशको, लूट लिया देशको,
इन देश के गद्दारों ने,लूट लिया देशको,
कभी राष्ट्रीय खेल के नाम पर तो कभी दुर संचार के नाम पर
इन देश के बेइमानों ने,लूट लिया देशको।

तव भी हम सोये थे,अव भी हम सोये है,
इन्ही के भरोसे क्या हम छोड़ दे देश को?
लूट किया देशको, जी लूट किया देशको,
इन देश के गद्दारों ने,लूट किया देशको।

कहते फ़िरे है,वो हिन्दु हम मुसलिम है,
लड़ाना ही उसका सिर्फ़ एक मकशद है,
धर्म के नाम पर ये लूट लिया देशको,
इन देश के गद्दारों ने,लूट किया देशको।

अव तो जागो,अव तो उठो,हे,देश के नौजवानों,
सिखा दो सवक इन गद्दारों को,
मिटा दो नाम इस देश से,चुकाकर
कर्ज इस देश का,बचा लो इस देश को,
इन देश के गद्दारों से,बचा लो इस देश को।

1-2 of 2