देश‎ > ‎

स्कूलों से गायब कई शिक्षक बर्खास्त

24 जन॰ 2015, 2:00 am द्वारा chittasen biswas प्रेषित   [ 24 जन॰ 2015, 2:03 am अपडेट किया गया ]
samachar
संवाद केन्द्र उत्तराखंड। उत्तराखंड के शिक्षा विभाग ने लंबे समय से नदारत शिक्षकों पर बड़ी कार्रवाई की है। विभाग ने कुमाऊं मंडल में अर्से से गैरहाजिर छह प्राथमिक शिक्षकों को बर्खास्त कर दिया गया है। इस कार्रवाई के साथ ही तीन अन्य को बर्खास्तगी का नोटिस भी जारी किया गया है। इसके अलावा अनुपस्थित शिक्षकों पर निलंबन व वेतन रोकने की कार्रवाई भी की गई है।

दरअसल, लंबे समय से गैरहाजिर शिक्षकों के कारण न केवल पठन-पाठन प्रभावित हो रहा है, बल्कि नई नियुक्तियों में भी पेच फंस रहा है। शिक्षा महानिदेशक ने 31 दिसंबर तक गैरहाजिर शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई का ब्योरा मांगा। विभागीय सूत्रों की मानें तो अल्मोड़ा के दो, बागेश्वर का एक, नैनीताल के 12, ऊधमसिंह नगर के पांच, पिथौरागढ़ के सात बेसिक शिक्षक अर्से से ड्यूटी ने नदारद हैं।

प्राथमिक विद्यालय सुरौली पिथौरागढ़ की सुनीता रावल, प्रावि मलान की अल्का बम, फतोड़ी डीडीहाट के कीर्ति भट्ट, बाटला के देवेंद्र सामंत, अल्मोड़ा के प्रावि नागक्वैराली की प्रमिला जोशी व प्रावि गुलदेख के जगदीश राम की सेवाएं समाप्त कर दी गई हैं। इसके अतिरिक्त नैनीताल की सबीना तनवीर, पीपलचैड़ कोटाबाग की भावना जोशी, कल्याजाला की हेमलता सुयाल को सेवा समाप्ति का नोटिस जारी किया गया है। लालकुआं की अर्चना सक्सेना को निलंबित किया गया है और सानीखेत पिथौरागढ़ की रमा पंत का वेतन रोका गया है। जिला व ब्लॉक स्तर से भी गैरहाजिर शिक्षकों को नोटिस जारी किए गए हैं।


Comments