देश‎ > ‎

कानून मंत्री सलमान खुर्शीद को अभी इस्तीफा दे देना चाहिए

14 अक्तू॰ 2012, 8:47 am द्वारा news reporter प्रेषित
Kejriwal
IBNkhabar के मुताबिक निम्नलिखित खबर भारत की जनता के लिये गहरी चिन्ता के कारण बन चुकें है। खबर: "जांच नहीं...,जांच की ऐसी तैसी कर रहे हैं अखिलेश: केजरीवाल
नइ दिल्ली। देश के कानून मंत्री सलमान खुर्शीद पर हमला करते हुए इंडिया अगेंस्ट करप्शन के अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि कानून मंत्री ने फोटो दिखाकर देश को गुमराह किया है। जिस अधिकारी की वो चिट्ठी संवाददाता सम्मेलन में प्रस्तुत किए वो तो पहले ही रिटायर हो गए थे। अरविंद ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सरकार की जांच पर सवाल उठाते हुए कहा कि जांच तो पहले ही हो गई है। अब अखिलेश जांच नहीं करा रहे हैं, जांच की ऐसे तैसी कर रहे हैं।

अरविंद ने कहा कि 23 मार्च 2011 की अधिकारी रामराज्य सिंह यादव की चिट्ठी प्रस्तुत की गई है। वो तो दो महीने पहले रिटायर हो गए थे। इस पर खुर्शीद के जवाब पर सवाल उठाते हुए केजरीवाल ने कहा कि फिर चिट्ठी कहां से आई, खुर्शीद को पता नहीं है। कहते हैं जांच करा लो।
सीडीओ जेबी सिंह का हलफनामा सलमान खुर्शीद की पत्नी ने प्रस्तुत किए, जबकि अधिकारी ने कहा था कि वो हलफनामा फर्जी है। अरविंद ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सरकार की जांच पर सवाल उठाते हुए कहा कि जांच तो पहले ही हो गई है। अब अखिलेश जांच नहीं करा रहे हैं, जांच की ऐसे तैसी कर रहे हैं। जांच तो हो चुकी है। दुबारा जांच की कोई जरूरत नहीं है। इस मामले में लीपापोती की जा रही है।

अरविंद ने आरोपों के आधार पर कहा कि खुर्शीद ने अधिकतर कैंप नहीं लगाए और विकलांगों का सामान खा गए। अरविंद ने कहा कि खुर्शीद ने जो फोटो दिखाए हैं उसपर कैंप की तारीख 17 जुलाई 2010 की तारीख है। ये फोटो साल 10-11 कैंप की है। साल 9-10 की नहीं है। वो सारे देश को गुमराह कर रहे हैं।

केजरीवाल ने कहा कि खुर्शीद की तरफ से एक व्यक्ति को प्रस्तुत किया। उसका नाम रंगी मिस्त्री है। उसको आज तक के चैनल पर दिखाया गया था। उसने कहा कि दो साल पहले सुनने की मशीन मिली थी। वो रंगी मिस्त्री की काट में कल एक सबूत पेश करने जा रहे हैं।

केजरीवाल ने कहा कि सलमान खुर्शीद कह रहे हैं कि जांच करवा लो। जब तक कानून मंत्री है सारे सबूतों को नष्ट कर देंगे। उनको इस्तीफा देना पड़ेगा। तभी जांच होंगी। प्रधानमंत्री चुप क्यों हैं? उनको इस मामले में बयान देना चाहिए। कांग्रेस पार्टी को और सोनिया गांधी को इस मुद्दे पर क्या कहना है? केजरीवाल ने कहा कि 2014 में सलमान खुर्शीद के सामने एक विकलांग व्यक्ति खड़ा होगा और खुर्शीद को हराकर दिखाएगा। "

अभी सवाल उठ्ता है अगर  देश के कानून मंत्री ही कानून के भक्षक बन गये है तो भारत की कानूनी प्रक्रिया और गणतान्त्रिक ढांचा के उपर गम्भीर धाब्बा लग सकते है।

ऐसी अवस्था मे निष्पक्ष जांच होने तक प्रधाण मन्त्री खुर्शीद जी को सामयिक तौर पे इस्तीफा देने के लिए बोल सकते है। जो कि प्रधाण मन्त्री का निष्पक्ष रहने की साबुत भी बन जायगी और जनता भी आशस्वस्त हो जाएंगे। साबुतों को मिटाना, लीपापोती करना एक क्रिमिनाल को साथ देने की बराबर ही है। अतः कानून मंत्री सलमान खुर्शीद को अभी इस्तीफा दे देना चाहिए।

Comments