देश‎ > ‎

प्रधानमंत्री आरटीआई पर लगाम के पक्ष में

12 अक्तू॰ 2012, 8:40 pm द्वारा news reporter प्रेषित
नई दिल्ली: प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शुक्रवार को कहा कि सूचना का अधिकार (आरटीआई) यदि व्यक्ति की निजता में दखल दे, तो वहां उसे सीमिति कर दिया जाना चाहिए।

ज्ञात हो कि यह मुद्दा गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की विदेश यात्राओं के बिल के विवरण मांगे जाने के बाद तेजी के साथ उठा है।

सूचना आयुक्तों के वार्षिक सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए मनमोहन सिंह ने यहां कहा कि नागरिकों के सूचना के अधिकार को उस सूरत में निश्चिततौर पर लक्ष्मण रेखा के भीतर सीमित किया जाना चाहिए, जब सूचना सार्वजनिक करने से किसी की निजता पर अतिक्रमण हो रहा हो। "लेकिन यह लक्ष्मण रेखा कहां खीची जानी चाहिए, यह एक जटिल प्रश्न है।"

सरकार द्वारा आरटीआई अधिनियम-2005 के द्वारा उपलब्ध कराई जा रही सूचना से निजता के सम्भावित अतिक्रमण को लेकर पैदा हुई चिंताओं को रेखांकित करते हुए मनमोहन ने आरटीआई और निजता के अधिकार के बीच संतुलन स्थापित करने का भी आह्वान किया। (Source:NDTV.Com)
Comments