राज्य‎ > ‎

बेटों की चाह रखने वालों को एक बेटी ने दिया जवाब

14 फ़र॰ 2015, 6:19 am द्वारा news reporter प्रेषित   [ 14 फ़र॰ 2015, 6:29 am अपडेट किया गया ]
News
उत्तराखंड। बेटों की चाह रखने वाले माता-पिताओं को देहरादून की बेटी ने अपनें हौसले से करारा जवाब दिया है। संघर्षों और बाधाओं के बावजूद हार न मानने वाली कैप्टन दीपिका चमोली (सेवानिवृत्त) के जीवन का दूसरा नाम ही चुनौती रहा। पग-पग पर एक नई मुश्किल और हर मोड़ पर एक नई बाधा।
माता-पिता का अचानक छिना साया और सिर पर तीन छोटी बहनों की जिम्मेदारी। कोई और होता तो शायद हार जाता, लेकिन दीपिका ने संघर्ष की राह चुनी। वो लड़ीं, अपनी पढ़ाई जारी रखी, सेना  की मुश्किल नौकरी चुनी, छोटी बहनों को काबिल बनाया और हर मुश्किल को खुद के आगे बौना साबित कर दिया।
सचमुच दीपिका की कहानी मिसाल है, सिर्फ बेटियों के लिए नहीं, बेटों के लिए भी। दून के डीएल रोड निवासी 33 वर्षीय दीपिका के पिता बीपी चमोली सीमा सुरक्षा बल में थे। चार बहनों में दीपिका सबसे बड़ी हैं।

उत्तराखंडः 50 हजार तक का इलाज मिलेगा मुफ्त
विश्व संवाद केन्द्र उत्तराखंड। मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना (एमएसबीवाई) लांच कर दी गई। यह योजना इसी साल पहली अप्रैल से लागू होनी है। सीएम हरीश रावत ने औपचारिक तौर पर तो प्रदेश व्यापी एमएसबीवाई को लांच किया। यह केंद्र की राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना की तर्ज पर ही है। इसके तहत राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के दायरे में नहीं आने वाले सभी नागरिकों को स्वास्थ्य बीमा के दायरे में लाने की बात कही गई है।


Comments